Home Blog
छात्र सम्प्रेषण की प्रभावशीलता को बढ़ाने तथा कक्षा में अनुशासन को बनाए रखने में ओवर हेड प्रोजेक्टर का विशेष महत्त्व होता हैं। ओवर हेड प्रोजेक्टर क्या है ? ओवर हेड प्रोजेक्टर को अध्यापक एक मेज पर रखता है और श्यामपट्ट पर लगी स्क्रीन पर अपना ध्यान रखता है। इस तकनीक में चाक तथा डस्टर का उपयोग नहीं किया जाता है।इस...
स्लाइड का निर्माण एवं प्रयोग  स्लाइड के माध्यम से किसी वस्तु विशेष को उसके वास्तविक आकार से कई गुना अधिक बड़े रूप में दिखाया जा सकता है। इसे मल्टीमीडिया प्रोजेक्टर नाम से भी जाना जाता है। आज के समय में शिक्षा जगत में स्लाइड के माध्यम से शिक्षा प्रदान की जा रही है। स्लाइड प्रोजेक्टर क्या है ? स्लाइड प्रोजेक्टर 35 सेंटीमीटर की...
डिजिटल ब्लैकबोर्ड से हमारा अभिप्राय ऐसे पर्दे या स्क्रीन से है जिस पर किसी मशीन जैसे - कम्प्यूटर आदि के रूप में प्रायः किसी दीवार पर पर्दा लगा दिया जाता है इसके बाद किसी मशीन जैसे कम्प्यूटर के द्वारा शिक्षण गतिविधियों को दर्शाया जाता है।यह कार्य कम समय में तथा पूर्ण गुणवत्ता युक्त होता है। इस विधि के माध्यम...
स्मार्ट कक्षाओं से हमारा तात्पर्य ऐसे नवीन शिक्षण प्रक्रिया से है। जहाँ शिक्षा प्रदान कराने के लिए किसी विद्यालय भवन की आवश्यकता नहीं पड़ती है यहाँ तो मात्र नये - नये तकनीकी साधनों द्वारा शिक्षा प्रदान करायी जाती है।यह कक्षाएं आज श्रम, व्यय एवं समय की बचत का प्रमुख साधन है। इन कक्षाओं में ऑनलाइन शिक्षा प्रदान की जाती...
जय हिन्द  सुभाषचन्द्र बोस करो या मरो  महात्मा गांधी सरफरोसी की तमन्ना अब हमारे दिल में है  रामप्रसाद विस्मिल वन्दे मातरम्  बंकिमचन्द्र चटर्जी आराम हराम है  जवाहर लाल नेहरू पूर्ण स्वराज्य  जवाहर लाल नेहरू दिल्ली चलो  सुभाष चन्द्र बोस स्वराज हमारा जन्मसिद्ध अधिकार है  बाल गंगाधर तिलक इन्कलाब जिन्दाबाद  भगत सिंह सारे जहाँ से अच्छा हिन्दुस्ता हमारा  इकबाल जन - गण - मन अधिनायक जय हो  रविन्द्रनाथ टैगोर तुम मुझे खून दो, मैं तुम्हे आजादी दूंगा  सुभाषचन्द्र बोस वेदों की ओर लौटो  दयानन्द सरस्वती भारत...
सामाजिक व्यवस्था के संचालन में मानव मूल्यों का महत्वपूर्ण स्थान होता है। मानवीय मूल्य के अन्तर्गत सही आचरण, शान्ति, स्नेह, सत्य तथा अहिंसा को सम्मिलित किया गया है।सही आचरण  मनुष्य अपनी इन्द्रियों की सहायता से ज्ञान प्राप्त करता है तथा मन के निर्देशन में कार्य करता है। चेतन मन के प्रभाव में किया गया कार्य स्वार्थहीन होता है। तथा यह दूसरों...
मदरसा पर संक्षिप्त टिप्पणी 'मदरसा' शब्द अरबी भाषा के 'दरस' शब्द से बना है, जिसका अर्थ होता है - 'भाषण देना'।उस समय उच्च शिक्षा प्रायः भाषण के माध्यम से दी जाती थी इसलिए जिन स्थानों पर भाषण के माध्यम से शिक्षा दी जाती थी उन्हें 'मदरसा कहा गया। मध्यकाल में ये मदरसे प्रायः राजधानियों और मुस्लिम बहुल बड़े - बड़े...
error: Content is protected !!